-->
बाढ़ से केसरिया का भी हाल बुरा, जलजमाव से संक्रामक बीमारियों का खतरा

बाढ़ से केसरिया का भी हाल बुरा, जलजमाव से संक्रामक बीमारियों का खतरा

Kesariya flood
केसरिया: प्रखंड क्षेत्र के एक तरफ पहले से जूझ रही पूर्वी-चम्पारण की जनता वैश्विक महामारी कोरोना संकट से अपने आप को संभालने का प्रयास कर रही थी, कि इसी बीच सावन के पावन महीने में बाढ का रौद्र रूप देखकर समूचे चम्पारण के लोगों का जीवन एक तरह से ठहर गया है।

अब जाये तो जाये कहाँ वाली स्थिति है। कमोबेश दोनों चम्पारण की हालत एक जैसी ही है। केसरिया प्रखंड क्षेत्र के बनकट निवासी एवं डाकघर में कार्यरत पीयूषकांत नीरज ने कहा कि यहां की स्थिति बद से बदतर हो चली है। बैरिया, बनकट, बिजधरी, कुंअर ढेकहा, नयागाॅव, सुन्दरापुर, ताजपुर पटखवलिया के ग्रामीण डाक घरों का बुरा हाल है। जहां पानी और केसरिया मे बढते कोरोना संक्रमण से अपनी जान बचाना मुश्किल हो गया है ।इस प्राकृतिक आपदा के सामने लाचार, बेबस, शासन, प्रशासन अपने सामर्थ्य के अनुसार लगा हुआ है। 

मानवता के हिसाब से प्रत्येक व्यक्ति का फर्ज बनता है कि आप सभी ठीक से रहे, तथा अपने आप को संभालते हुए जनहित में जो कुछ भी हो सके करने का प्रयास करें।




Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article