-->
गुरु पूर्णिमा पर ढेकहाँ के तीन सौ साल पुराने मंदिर में हुई पूजा-अर्चना

गुरु पूर्णिमा पर ढेकहाँ के तीन सौ साल पुराने मंदिर में हुई पूजा-अर्चना

Guru purnima dhekaha kesariya 300 years old temple
केसरिया: प्रखंड क्षेत्र के प्राचीन मंदिर ढेकहाँ मठ के समीप करीब 275 वर्ष पहले का कर्ता राम बाबा, धवल राम बाबा का प्रत्येक वर्ष की भांति इस साल भी गुरु पूर्णिमा के रोज पूजन किया गया। 

देश में फैले हुए कोरोना संक्रमण बीमारी को देखते हुए प्रत्येक वर्ष की भांति इस साल भक्तों में कमी देखी गई है। ढेकहाँ मठ के महंत प्रमोद दास ने बताया कि गुरु पूर्णिमा के रोज भक्त पचास हजार से ज्यादा पहुंचते थे, मगर इस साल कोरोना बीमारी को लेकर सोशल डिस्टेंस को लेकर सुबह से लेकर शाम तक एक हजार की संख्या में मंदिर के बाहर से ही लोग धवल राम कर्ता, राम बाबा का पगड़ी चादर दर्शन कर के चले गए। 

वहीं गुरु पूर्णिमा के रोज ढेकहाँ मठ के प्रांगण में सोशल डिस्टेंस के साथ विधिवत मंत्रोचार आचार्यों पंडित बलिराम पाण्डेय, पंडित अशोक कुमार बाजपेयी, पंडित कन्हैया पाण्डेय, सुजीत पाठक, भीम पाठक ने पूजन कराया और सभी भक्तों ने बाबा की समाधि का दर्शन किया तथा अपने अपने घर चले गए।




वहीं ढेकहाँ ग्राम के पैक्स अध्यक्ष प्रफुल्ल कुँवर ने बताया की कर्ता राम बाबा और धवल राम बाबा के साथ बेतिया राज के महाराजा ने भी एक साथ बैठकर वार्तालाप किया है। केसरिया प्रशासन थानाध्यक्ष विनय कुमार के नेतृत्व में मंदिर की पूरी सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद थी।  

इस मौके पर ढेकहाँ के पैक्स अध्यक्ष प्रफुल्ल कुँवर ,विंध्याचल सिंह, बिजली यादव, अवधेश यादव, श्री भगवान दुबे, शत्रुघ्न दास, बैजनाथ पाण्डेय, मदन सिंह, अगीनेश पाण्डेय, पूर्व मुखिया हेमंत कुमार सिंह ,अभय यादव इत्यादि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

केसरिया से दीनानाथ पाठक की रिपोर्ट

0 Response to "गुरु पूर्णिमा पर ढेकहाँ के तीन सौ साल पुराने मंदिर में हुई पूजा-अर्चना"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article