-->
सीमा पर भारतीय नागरिक के साथ दूसरे नागरिको को भी बेरहमी से पीट कर किया जख्मी

सीमा पर भारतीय नागरिक के साथ दूसरे नागरिको को भी बेरहमी से पीट कर किया जख्मी

 

Sitamadhi (सीतामढ़ी): भारत नेपाल सीमा पर मिट्टी का बर्तन लेकर भारत के ही बसतपुर से सोनबरसा आने के क्रम में नो मैन्स लैंड के पास पहाड़ी एपीएफ जवान ने भारतीय युवक की बेरहमी से पिटाई की है। सूचना पर तत्काल ही सोनबरसा एसएसबी कैम्प् इंचार्ज, भोलानाथ यादव जवानो के साथ पहुंचे,जख्मी सोनबरसा थानाक्षेत्र के बसतपुर निवासी फेकन पन्डित के पुत्र महेश पन्डित को अस्पताल पहुंचाया।


अभी इस जख्मी को अस्पताल से रेफर किये कुछ देर ही बीता था कि नेपाली जवानो द्वारा एक अन्य भारतीय नागरिक की भी पिटाई की जाने की घटना को अंजाम दिया गया।जिससे तनाव और भरक गया,लेकिन एसएसबी जवानो की कर्मठता के कारण लोग गुस्सा के बावजूद भी धैर्य बनाये रखे। नेपाली एपीएफ जवानो की गुस्ताखी के बाद लोगो का गुस्सा फूट रहा था,लेकिन एसएसबी के अधिकारी भोला नाथ ने लोगो को समझाया कि एक दो लोग गलत होते है,सभी नही,मुझे मौका दीजिये,वहां के अधिकारियों से बात करने का।


श्री यादव ने नेपाल एपीएफ के स्थानीय सीनियर अधिकारी को सीमा पर चेतावनी भरे व समझाने के अंदाज में कहा–बाढ़ के कारण दोनो ही तरफ सड़के कटी है और जर्जर हुई है,कई जगह पानी होने के कारण सीमा पर बसे गांव के लोग अपने ही देश के एक दूसरे गांव में जाने के लिए नो मैन्स लैंड के पास आते है,भारतीय एसएसबी के जवान ऐसे लोगो को पूछताछ कर उनके गांव जाने देते हैं,ध्यान यह रखा जाता है कि वह सीमा पार नही करे,लेकिन आपके नेपाल के तरफ से स्थानीय अधिकारी कुछ वैसे जवानो की ड्यूटी लगा रहे है जो लोकल भाषा नही समझ रहे है,ऐसी हरकतों से सम्बन्ध पर बुरा असर पड़ता है,लोगो मे गुस्सा बढ़ रहा है।


एसएसबी अधिकारी के इस रुख के बाद नेपाल के तरफ से अधिकारी ने कहा-सीमा पर लोकल भाषा समझने वाले जवानो को लगाया जाएगा।दोनो देश की मित्रता में कोई खलल नही डाल सकता है। इधर अस्पताल में जख्मी ने बताया कि–मंगलवार को सोनबरसा में बाजार लगता है,मिट्टी का बर्तन बनाते हैं,जिसे बेचने के लिए बाजार ले जा रहे थे।


रास्ता अभी खराब है,इसलिए सीमा पर एसएसबी द्वारा बनाई जा रही सड़क के नीचे उतर कर जाने लगे,नेपाली जवान को कहते रहे कि सर हम नेपाल नही जा रहे है,लेकिन वह नेपाली में गाली देते हुए पीटने लगा। इधर सूचना पर अस्पताल में बीडीओ ओम प्रकाश,थानाध्यक्ष राकेस कुमार, अवर निरीक्षक संजय कुमार इत्यादि भी पहुंचे,जहा प्राथमिक इलाज के बाद जख्मी युवक को रेफर कर दिया गया।


मालूम हो कि बीते 12 जून को नेपाल के नरायणपुर और भारत के जानकीनगर सीमा पर मां बेटी के मिलन के दौरान नेपाली जवानो की बर्बरतापूर्ण कार्रवाई में नागेश्वर राय के पुत्र विकेश को गोली मार कर हत्या कर डाला गया था,दो अन्य जख्मी हुआ था जबकि एक को बंदी बनाया गया था जिसके बाद छोड़ा गया था।


उधर सीमा पार नेपाल के सर्लाही जिला मुख्यालय मलंगवा में कोरोना बोस्फोटक रूप ले चुका है।सर्लाही पत्रकार संघ के उपाध्यक्ष बख्तियार अली की रिपोर्ट के मुताविक अकेले मलंगवा में कोरोना संक्रमितों की तादात हजार के करीब पहुंच रही है।नेपाल में सूत्रों से जो खबर है उसके मुताविक सीमा पर काबिज दोनो देश के तस्करों में करीब तीन सौ तस्कर संक्रमित हो चुके हैं।


जो लॉक डाउन के बावजूद सीमा के आर पार कर रहे है,उससे दोनो ही देश को नुकसान हो सकता है। पत्रकार ने बताया कि जिला प्रशासन के साथ मीडिया के सीनियर रिपोर्टर लोगो के बीच इन बिंदुओं पर चर्चा हुई थी ।इन तमाम हालातो को देखते हुए दो दिन केवल सर्लाही में लॉक डाउन लगाया गया है।


इस बावत सोनबरसा एसएसबी कैम्प् इंचार्ज भोलानाथ यादव ने कहा–घटना से वरीय अधिकारी को अवगत कराया गया है। सीमा पर युवक ने बताया की उसे नेपाली जवान पिटे है,हमने बात की है, उधर से भी सकारात्मक जवाब सामने आया है,बताया गया है कि सीमा पर स्थानीय भाषा समझने वालों को रखा जाएगा।


दोनो देश मे प्रगाढ़ मित्रता है, इसे वहां के भी लोग व अधिकारी समझते हैं। सीमा पर किसी तरह का कोई तनाव नही है, सौहार्दय पूर्ण वातावरण में बात हुई है। समाचार प्रेषण तक बीडीओ ओम प्रकाश,एसएसबी के अधिकारी जवान व पुलिस के जवान सीमा पर मौजूद थे।


न्यूज डेस्क




0 Response to "सीमा पर भारतीय नागरिक के साथ दूसरे नागरिको को भी बेरहमी से पीट कर किया जख्मी"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article