-->
नलजल योजना में हो रहा है फर्जीवाड़ा, वार्ड सदस्य ने खुद खोली पोल

नलजल योजना में हो रहा है फर्जीवाड़ा, वार्ड सदस्य ने खुद खोली पोल

Nal Jal Yojna Cruption in Pachpakari Bihar
पचपकड़ी (Pachpakari): थाना क्षेत्र के पचपकड़ी गांव के वार्ड नम्बर 9 में नल जल योजना में भारी अनियमितता का मामला उजागर हुआ है।


उक्त गांव के वार्ड नम्बर 9 के वार्ड सदस्य पटवारी साह द्वारा लगभग 8 माह पूर्व सरकारी जमीन उपलब्ध होने के बावजूद किसी दूसरे की निजी जमीन में योजना का बोरिंग और टंकी लगा दिया गया। अब उक्त स्थान से स्थानीय निवासी मुकेश साह की जमीन के बीच से वार्ड सदस्य पटवारी साह योजना का पाइप निकालना चाहते हैं, जिसका विरोध जमीन मालिक मुकेश साह द्वारा किया जा रहा है।


मुकेश साह ने The Little Guru News से बात करते हुए बताया कि वह सपरिवार परदेस रहकर अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं। जब कोरोना महामारी के कारण देश में लॉक डाउन लगा तो वे घर वापस आ गए। यहां आने के बाद जब उनको पता चला कि नलजल योजना की टंकी उनके ही पट्टीदार की जमीन में वार्ड द्वारा लगवा दिया गया है और अब उनकी जमीन से पाइप निकालने की योजना बनाई जा रही है, तो उन्होंने इस बात का विरोध किया।


उन्होंने आगे बताया कि उसके बाद वार्ड पटवारी साह के द्वारा मुझे पहले नाना प्रकार के प्रलोभन दिए गए। परन्तु जब बात नहीं बनी तो मुझे झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दे डाली। जब उस पर भी बात नहीं बनी तो वार्ड सदस्य पटवारी साह ने नया पैंतरा आजमाया है। अब वह कह रहे हैं कि नलजल योजना तो बिहार सरकार की बेकार योजना है। छह महीने से लेकर साल भर में पाइप-नलजल सब सड़-गल जाएगा। तब तुम अपने जमीन पर घर बना लेना।


अब सवाल उठता है कि राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सात निश्चय योजनाओं में शामिल सबसे महत्वकांक्षी योजना "नलजल योजना"  की क्या यही हकीकत है, की जनप्रनिधि इस योजना के धराशायी होने का समय भी फिक्स कर दे रहे हैं। इससे प्रतीत होता है कि सिस्टम में कितनी दरार है कि पूरे सिस्टम का सबसे निचला प्रतिनिधि यानी कि एक वार्ड सदस्य इस योजना की असफलता के बारे में बता रहा है।


अब पदाधिकारियों की जिम्मेदारी बन रही है कि इस घटना की जड़ में पहुंचकर जांच करें और यदि वार्ड सदस्य ने गलत किया है तो उसपर नियमानुसार उचित कार्यवाही भी करें। यह भी जांच हो कि कितने फ़ीट गहराई तक पाइप लगाया गया है और इतना समय बीत जाने के बावजूद क्यों नहीं ग्रामीणों को स्वच्छ पानी उपलब्ध हो पाया है। यह भी जांच हो कि जब वहीं बगल में सरकारी जमीन उपलब्ध है तो फिर निजी जमीन में पाइप लगाने और टंकी बैठाने की जरूरत क्या आन पड़ी।


सोशल मीडिया में तेज़ी से वायरल हो रहा ऑडियो, जिसमें खुद वार्ड सदस्य पटवारी साह नलजल योजना की सच्चाई बता रहे हैं।


ऑडियो सुनने के लिए यहां क्लिक करें


वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें


न्यूज़ डेस्क




0 Response to "नलजल योजना में हो रहा है फर्जीवाड़ा, वार्ड सदस्य ने खुद खोली पोल"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article