-->
देश के 13वें राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का निधन, 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

देश के 13वें राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का निधन, 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

Pranab Mukherjee

नई दिल्ली (New Delhi): पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का सोमवार शाम को 84 साल की उम्र में निधन हो गया. दिल्ली के आर्मी अस्पताल में प्रणब मुखर्जी ने अंतिम सांस ली. वे गत कई दिनों से बीमार चल रहे थे और अस्पताल में इलाज जारी था. गत दिनों प्रणब मुखर्जी कोरोना संक्रमित पाए गए थे, उनकी सर्जरी भी हुई थी. प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी के निधन की जानकारी दी.


जानकारी के मुताबिक प्रणब मुखर्जी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए थे और उनकी हाल ही में ब्रेन सर्जरी की गई थी. प्रणब मुखर्जी वर्ष 2012 देश के राष्ट्रपति बने थे, 2017 तक वो राष्ट्रपति रहे.


वर्ष 2019 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. प्रणब मुखर्जी को खराब स्वास्थ्य की वजह से 10 अगस्त को दिल्ली के आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनके मस्तिष्क में खून का थक्का जमने के बाद सर्जरी की गई थी.


राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि:

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक जताया. राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी. रामनाथ कोविंद ने ट्वीट में लिखा कि प्रणब मुखर्जी के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ. उनका जाना एक युग का अंत है. प्रणब मुखर्जी ने देश की सेवा की, आज उनके जाने पर पूरा देश दुखी है.


असाधारण विवेक के धनी, भारत रत्न श्री मुखर्जी के व्यक्तित्व में परंपरा और आधुनिकता का अनूठा संगम था. 5 दशक के अपने शानदार सार्वजनिक जीवन में, अनेक उच्च पदों पर आसीन रहते हुए भी वे सदैव जमीन से जुड़े रहे. अपने सौम्य और मिलनसार स्वभाव के कारण राजनीतिक क्षेत्र में वे सर्वप्रिय थे.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख जताया. उन्होंने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति के महत्वपूर्ण योगदार को देश याद रखेगा. उनका सम्मान हर एक वर्ग में था.


गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख व्यक्त किया. उन्होंने लिखा कि भारत रत्न प्रणब मुखर्जी एक शानदार नेता थे, जिन्होंने देश की सेवा की. प्रणब जी का राजनीतिक करियर पूरे देश के लिए गर्व की बात है. अमित शाह ने लिखा कि प्रणब मुखर्जी ने अपने जीवन में देश की सेवा की, उनके निधन के बाद देश के सार्वजनिक जीवन को बड़ी क्षति हुई है.


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि प्रणब मुखर्जी को देश के हर तबके का सम्मान प्राप्त था. उनका निधन एक निजी क्षति है, जिनके पास सार्वजनिक जीवन के हर क्षेत्र का ज्ञान था. राजनाथ सिंह ने लिखा कि प्रणब मुखर्जी का जीवन बेहद साधारण था, इसी तरह उन्होंने देश की सेवा की.


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि मैं उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं.


गौरतलब है कि देश 13वें राष्ट्रपति रहे प्रणब मुखर्जी का जन्म 11 दिसंबर 1935 को हुआ. पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में उनका जन्म हुआ था. 84 साल की उम्र में प्रणब मुखर्जी ने दुनिया को अलविदा कह दिया. लंबे वक्त तक कांग्रेस से जुड़े रहे प्रणब दा वित्त मंत्री, विदेश मंत्री और राष्ट्रपति पद पर काबिज रह चुके हैं.


न्यूज़ डेस्क





0 Response to "देश के 13वें राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का निधन, 84 साल की उम्र में ली अंतिम सांस"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article