-->
पताही: जब थाना की मेहरबानी से बारिश का पानी दुकानदारों के लिए बन जाता है आफ़त

पताही: जब थाना की मेहरबानी से बारिश का पानी दुकानदारों के लिए बन जाता है आफ़त

 

पताही: जब थाना की मेहरबानी से बारिश का पानी दुकानदारों के लिए बन जाता है आफ़त

पताही (Patahi): पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही वर्षा से जनजीवन तो अस्त व्यस्त है ही, तिसपर पताही थाना के कारनामे से दुकानदारों की जान पर बन आई है।


जब भी बारिश होती है तो थाना परिसर समंदर बन जाता है। पानी निकासी का कोई साधन बनाने के बजाए थाना  द्वारा एक छोटा सा पाइप वहां लगाकर ढाका-पताही मुख्यपथ पर छोड़ दिया जाता है। जिसके बाद वह गंदा पानी सड़क की दूसरी तरफ नीचे की तरफ बने दुकानों में प्रवेश कर जाता है, जिससे दुकानदारों के साथ साथ ग्राहकों और आमजन को भारी समस्या का सामना करना पड़ता है।


पताही: जब थाना की मेहरबानी से बारिश का पानी दुकानदारों के लिए बन जाता है आफ़त

इस बाबत जब भी थाना को सूचना दी जाती है, वे सुना-अनसुना कर देते हैं। दुकानदारों का कहना है की हमने थाना से कहा की थोड़ा लंबा पाइप जोड़ दिया जाए तो समस्या सुलझ सकती है। परंतु इस पर कोई सुनवाई नहीं हुई।


जिससे नाराज लोगों ने पताही पूर्वी पंचायत के मुखिया कृष्ण मोहन कुमार सिंह को इस स्थिति से अवगत कराया। श्री सिंह ने अपने पैसे से पाइप खरीद थाना को सुपुर्द किया और मोटर से पाइप को जुड़वा कर लंबा कर आगे तक भेजा जिसे पानी किसी के दुकान में ना घुसे।


पताही: जब थाना की मेहरबानी से बारिश का पानी दुकानदारों के लिए बन जाता है आफ़त

मुखिया जी के इस काम की चहुंओर सराहना हो रही है, जिनके कारण वहां मौजूद दुकानदारों को अब भारी असुविधा से छुटकारा मिल गया है। कपड़ा व्यवसायी राज किशोर सिंह एवं मिठाई दुकानदार कुंदन प्रसाद, लालमोहन प्रसाद सहित अन्य दुकानदारों का कहना है की इस परिस्थिति में जहां प्रशासन हमारी नहीं सुनता था, वहीं मुखिया जी ने अब हमें इस मुसीबत से छुटकारा दिला दिया है। हर जगह यदि ऐसे ही मुखिया हों तो बिहार की तस्वीर ही बदल जाए।


संपादकीय




0 Response to "पताही: जब थाना की मेहरबानी से बारिश का पानी दुकानदारों के लिए बन जाता है आफ़त"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article