-->
आज होगी कालरात्रि की पूजा, रात की पूजा का विशेष महत्व

आज होगी कालरात्रि की पूजा, रात की पूजा का विशेष महत्व

आज होगी कालरात्रि की पूजा, रात की पूजा का विशेष महत्व

चकिया(Chakia):  शुक्रवार 23 अक्टूबर2020 को नवपत्रिका प्रवेश एवं मूर्तियों का प्राण प्रतिष्ठा रात्रि काल में महानिशा पूजन। 


श्री शुभ संवत आश्विन, शुक्ल पक्ष , सप्तमी , शुक्रवार, 23 अक्टूबर 2020 कालरात्रि माता पूजा मंत्र- ॐ करालरूपा कालब्जसमानाकृतिविग्रहा | 

कालरात्रि: शुभं दद्यात् देवी चण्डाट्टहासिनी ||

 मां कालरात्रि को गुड़ का भोग लगाएं।


इससे आकस्मिक आने वाले संकट से रक्षा मिलती है।

किस राशि के लिए शुभ :- सभी 12 राशियों के लिए शुभ विशेषकर कर्क और सिंह राशि के लिए शुभ है।


आज का शुभ रंग :- कृष्ण

 मां कालरात्रि के शरीर का रंग घने अंधकार की तरह एक दम काला है।


किस रंग के कपड़े पहने :- साधक आज के दिन पूजा में नारंगी लाल या पीला रंग का वस्त्र धारण करें | 

संपूर्ण कार्य सिद्धि के लिए निशा पूजा जरूरी 


दुर्गा पूजा में नवरात्रा के प्रति दिन का अलग अलग महत्व  है।नवपत्रिका प्रवेश के साथ शुक्रवार को पूजा पंडालों में देवी का पट्ट प्रात: काल से खुलना प्रारंभ होगा 


नवरात्रि में निशा पूजन का बहुत ही ज्यादा महत्व है ।इस वर्ष शारदीय नवरात्र का निशा पूजन 23 अक्टूबर शुक्रवार को मध्य रात्रि अष्टमी तिथि में महानिशा पूजन किया जाएगा , जो संपूर्ण कार्य सिद्धि के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है । निशा पूजन में माता दुर्गा के समीप छप्पन भोग अर्पण करने से मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है ।


महा अष्टमी व्रत करने वाले भक्त 24 अक्टूबर शनिवार  को उपवास रहकर व्रत करेंगे |


चकिया से अमितेश कुमार रवि की रिपोर्ट







0 Response to "आज होगी कालरात्रि की पूजा, रात की पूजा का विशेष महत्व"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article