-->
आज कलश स्थापन प्रात: काल से पुरे दिन तक :आचार्य अभिषेक

आज कलश स्थापन प्रात: काल से पुरे दिन तक :आचार्य अभिषेक

Navaratr begins

चकिया (Chakia): श्री शुभ संवत २०७७, आश्विन शुक्ल पक्ष , प्रतिपदा , शैलपुत्री पूजन 17 अक्टूबर 2020 शनिवार , कलश स्थापन प्रात: काल से पुरे दिन तक । विशेष अभिजीत मुहूर्त दिन में ११ बजकर ३६ मिनट से लेकर १२ बजकर २४ मिनट तक। 

आज का शुभ रंग : लाल

माँ शैलपुत्री को लाल रंग बहुत प्रिय है | इसलिए उन्हें लाल रंग की चुनरी , नारियल और मीठा पान अवश्य भेंट करें | और लाल एवं पीला वस्त्र स्वयं भी धारण करें | 

Navaratr begins

किस राशि के लिए शुभ

       

सभी 12 राशियों के लिए शुभ, विशेषकर मेष_राशि के लिए अति उत्तम |


व्रत संकल्प के साथ जल ,गाय का दूध ,दही, घी, मधु, शक्कर अर्पित करें | इसके बाद वस्त्र, श्रृंगार सामग्री, पुष्प, कुमकुम, अक्षत, बिल्वपत्र ,चढ़ाएं धूप दीप दिखाकर हाथ धूल कर  मिठाई - फल भोग लगाएं | पान, सुपारी, दक्षिणा के बाद  शैलपुत्री माता से प्रार्थना करें |


ध्यान


वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।

वृषारुढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्॥


कौनसी मनोकामनाएं होती है पूरी 


सच्चे मन से पूजा करने वाले मनुष्य के मन की सारी मुरादें पूरी होती हैं। मन कर्तव्य पथ से विचलित नहीं होता है। आज के दिन शैलपुत्री माता को गाय का शुद्ध घी भोग लगाए। इससे शरीर निरोगी रहता है।


चकिया पूर्वी चंपारण से अमितेश कुमार रवि की रिपोर्ट 




Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article