-->
आत्मा के तत्वाधान में किसान चौपाल सह पाठशाला का हुआ आयोजन

आत्मा के तत्वाधान में किसान चौपाल सह पाठशाला का हुआ आयोजन

Kisan Chaupal cum school organized under the aegis of Atma in Chakia

चकिया (Chakia): थाना क्षेत्र के गांव बारा गोविंद में सोमवार को रबी फसल की बुवाई तथा सिंचाई आदि  वैज्ञानिक विधि से करने के उद्देश्य से आत्मा के तत्वाधान में किसान चौपाल सह पाठशाला का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता आत्मा अध्यक्ष व किसान सलाहकार समिति के अध्यक्ष  अजय कुमार देव ने की। 

इस दौरान आत्मा अध्यक्ष ने चौपाल को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए बहुत सारी कल्याणकारी योजनाएं चला रही, जैसे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना आदि के तहत लाभ दिखा जा रहा है। वहीं किसान बिल का समर्थन करते हुए कहा कि यह बिल पूरी तरह से किसानों के पक्ष में है। इसके माध्यम से किसान अपने  उत्पाद को कहीं भी बेचने के लिए स्वतंत्र हैं, जहां पर उनको अपने फसल का ज्यादा से दाम मिलेगा तथा बिचौलियों का  सफाया भी होगा। 

वहीं  पाठशाला  में प्रशिक्षक के रूप में आये  भैया रणविजय सिंह ने बताया कि खेत में लगे पराली को जलाने से पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंचता है, जिसका कुप्रभाव मानव जीवन सहित अन्य प्राणीयों, पेड़ पौधों पर पड़ने लगा है जो बेसमय वर्षा व सुखाड़ आदि के रूप मे सामने आने लगा है तथा खेत में जलाने से मिट्टी की उर्वरता भी घटती है। पराली को जैविक खाद बनाने के लिए खेत   में  (डी कंपोजर) का छिड़काव करने से अविलंब पराली सड़गल जाता है। इससे मिट्टी को पर्याप्त मात्रा में नाइट्रोजन, पोटाश तथा सल्फर आदि की पूर्ति हो जाती है जिसका लाभ बोई गायी फसल को मिलेगा। साथ साथ जीरो टिलेज के माध्यम से गेहूं की बुवाई करने से लागत व समय की बचत होती है और फसल भी बेहतर होगा तथा आधुनिक  टपक विधि से सिंचाई करने तथा  मशरूम की उत्पादन के अलावा एफ़आईजी व  एफपीओ तथा आईपीएम किट आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी । 

मौके पर कृषि समन्वयक दीपक कुमार, विद्यार्थी कुमार , शिवांगी  आनंद ,प्रियंका कुमारी, नीतू कुमारी, सलाहकार हरिशंकर ठाकुर  व किसान किसान चंद्रशेखर देव ,अमित यादव राजदेव राय, रवीश कुमार हरिकिशोर पासवान, रामनाथ साहनी सहित अन्य मौजूद थे।

चकिया से अमितेश कुमार रवि की रिपोर्ट




0 Response to "आत्मा के तत्वाधान में किसान चौपाल सह पाठशाला का हुआ आयोजन"

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपना सुझाव यहाँ लिखे!

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article