-->
किसानों के कृषि बिल के खिलाफ आंदोलन के समर्थन में लगाई गई मानव श्रृंखला

किसानों के कृषि बिल के खिलाफ आंदोलन के समर्थन में लगाई गई मानव श्रृंखला

Human chain set up in support of agitation against farmers' agricultural bill
चकिया (Chakia): तीनों कृषि कानून के खिलाफ  दिल्ली में 65 दिनों से चल रहे अनिश्चितकालीन आंदोलन के समर्थन में चकिया गांधी मैदान से चकिया सुभाष चौक तक राजद के किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुबोध यादव  के नेतृत्व में सैकड़ों की तादाद में किसानों ने मानव श्रृंखला में भाग लिया।

Human chain set up in support of agitation against farmers' agricultural bill

वहीं मौके पर राजद के किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुबोध यादव ने कहा की फासिस्ट मोदी सरकार जो संविधान को धत्ता बताते हुए 3 किसान विरोधी काले कानून लाकर हिंदुस्तान की खेती और किसानी को चंद कॉर्पोरेट के हाथों गिरवी रख देने वाले कानून लाई है जिसके खिलाफ आज पूरे देश में किसान फासिस्ट मोदी सरकार से आर पार की लड़ाई के मूड में है और इसी के समर्थन में आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के शहादत दिवस पर पूरे बिहार के किसानों ने मानव श्रृंखला में भाग लेकर मोदी सरकार को चुनौती दी है।

मौके पर उपस्थित राजद के प्रखंड अध्यक्ष माधव मधुकर ने कहा की पूरे देश में किसान और आम नागरिक इन कानूनों का विरोध कर रहे हैं क्योंकि इन के माध्यम से किसानों और आम जनता को एक नए कंपनी राज के हवाले कर दिया गया है अंतर सिर्फ इतना है कि पहले वाला कंपनी राज अंग्रेजों का था इन कानूनों के बाद जो कंपनी राज बनेगा वह अडानी और अंबानी का होगा ।

मौके पर मानव श्रृंखला कार्यक्रम के प्रखंड प्रभारी अमरलाल राय ने कहा कि यह कानून भारत में खेती किसानी का चेहरा बदल देगा, जिसमें किसानों को पूरी तरह से प्राइवेट कंपनी और कॉरपोरेशन की दया पर रहने को मजबूर कर दिया जाएगा। 

मौके पर चकिया नगर पंचायत के जिला परिषद नवल यादव, वार्ड पार्षद सुभाष यादव, मुकेश कुशवाहा, अशोक गुप्ता, ठाकुर प्रसाद, उमेश महतो, लखींद्र प्रसाद यादव, अमित कुमार यादव, जयप्रकाश यादव, बहाउद्दीन, कमरुद्दीन, सतीश सिंह, मोहम्मद आजाद आलम, कुणाल गुप्ता, मोहम्मद शमी के साथ सैकड़ों राजद कार्यकर्ता मौजूद थे।

चकिया से अमितेश कुमार रवि की रिपोर्ट

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article